कपास की खेती के लिए किसान अपनाएं वैज्ञानिक विधि : डा. कर्मचंद

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डा. कर्मचंद ने किसानों को कपास की खेती के लिए वैज्ञानिक विधि अपनाने की सलाह दी। -


June 05, 2021 जागरण संवाददाता, कैथल: कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डा. कर्मचंद ने किसानों को कपास की खेती के लिए वैज्ञानिक विधि अपनाने की सलाह दी। खरीफ की नकदी फसलों में कपास का महत्वपूर्ण स्थान है। प्रदेश में कपास की प्रति एकड़ औसत पैदावार देश की प्रति हेक्टेयर औसत पैदावार से लगभग तीन गुणा है। किसान उन्नत कृषि क्रियाएं अपना कर 10-12 क्विटल प्रति एकड़ तक पैदावार ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि जिले में लगभग 18 हजार एकड़ में कपास की खेती की जा रही है। इसकी अधिकतम पैदावार लेने के लिए कपास की खेती को वैज्ञानिक विधि से करने की आवश्यकता है। इसके लिए सर्वप्रथम मिट्टी पलटने वाले हल से गहरी जुताई करनी चाहिए। प्रत्येक जुताई के बाद खेत में सुहागा लगाएं। कीट प्रबंधन जून माह में कपास की फसल में थ्रिप्स या चूरड़ा का प्रकोप देखा जाता है। थ्रिप्स की संख्या 10 या अधिक प्रति पत्ता पहुंचने पर ही सिफारिश किए गए कीटनाशकों का प्रयोग करें।


Share to ....: 71                         

Currency

World Cotton Balance Sheet

India Cotton Balance Sheet

Visiter's Status

knowledge management

Weather Forecast India

how to add shortcut on chrome homepage - www.cottonyarnmarket.net