भारत टेक्स 2024 – भारत का सबसे बड़ा वस्‍त्र कार्यक्रम संपन्न हुआ

... -


March 02, 2024 प्रधानमंत्री के 5एफ विजन से प्रेरित भारत में सबसे बड़ा वैश्विक वस्‍त्र कार्यक्रम भारत टेक्स 2024 एकीकृत फार्म टू फैशन फोकस के साथ 29 फरवरी, 2024 को नई दिल्ली में संपन्न हुआ। प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 26 फरवरी, 2024 को भारत मंडपम में इस चार दिवसीय कार्यक्रम का उद्घाटन किया था। इस कार्यक्रम में न केवल भारतीय, बल्कि शीर्ष ब्रांडों और खुदरा विक्रेताओं सहित वैश्विक हितधारकों की भी जबरदस्त भागीदारी रही।

इस वस्‍त्र कार्यक्रम का आयोजन 11 वस्‍त्र निर्यात संवर्धन परिषदों के संघ ने वस्‍त्र मंत्रालय के सहयोग से किया था। व्यापार और निवेश के दोहरे आधार पर निर्मित और स्थिरता पर अत्यधिक ध्यान केंद्रित करने वाले इस 4 दिवसीय कार्यक्रम में नीति निर्माताओं और वैश्विक सीईओ के अलावा, 3,500 प्रदर्शक, 111 देशों के 3,000 खरीदार और एक लाख से अधिक व्यापार आगंतुक शामिल हुए। लगभग 20 लाख वर्ग फुट क्षेत्र में फैली और संपूर्ण वस्‍त्र मूल्य श्रृंखला को शामिल करने वाली एक प्रदर्शनी इस आयोजन का मुख्य आकर्षण थी। इस प्रदर्शनी में वस्त्रों की कलात्मक रूप से तैयार की गई कहानी- वस्त्र कथा भी शामिल थी। यह कार्यक्रम दो अत्याधुनिक स्थानों – भारत मंडपम और यशोभूमि – पर एक साथ आयोजित किया गया था और दोनों स्थानों पर प्रदर्शनी की जगह खाली नहीं रह गई थी।

इस कार्यक्रम में दुनिया भर के सभी प्रमुख वस्‍त्र संगठनों और ब्रांडों ने भाग लिया। इनमें कोच, टॉमी हिलफिगर, केल्विन क्लेन, वेरो मोडा, जैक एन जोन्स, टोरे, एचएंडएम, टारगेट, कोहल्स, के-मार्ट, आईकेईए, वाईकेके, लेनज़िंग, अंको, सीआईईएल ग्रुप, बुसाना ग्रुप, ब्रैंडिक्स अपैरल्स, टीजिन लिमिटेड आदि जैसी कंपनियों के शीर्ष स्तर के प्रतिभागी शामिल थे। इसमें रिलायंस, आदित्य बिड़ला, वेलस्पन, ट्राइडेंट, वर्धमान, नाहर, इंडोकाउंट, रेमंड एसआरएफ इंडस्ट्रीज सहित सभी प्रमुख भारतीय कंपनियों की उच्चतम स्तर पर भागीदारी रही। इसमें यूएनईपी, आईआरईएनए, लाउड्स फाउंडेशन, जीआईजेड, आईडीएच, कॉटन कनेक्ट, डब्ल्यूजीएसएन, फैशन फॉर गुड, बेटर कॉटन इनिशिएटिव, रिस्पॉन्सिबल सोर्सिंग नेटवर्क, आईटीएमएफ, इंटरनेशनल अपैरल फेडरेशन, बीजीएमईए, बीकेएमईए, कॉटन इजिप्ट एसोसिएशन सहित कई बहुपक्षीय संगठन और वैश्विक थिंक टैंक शामिल हुए। इसके अलावा, सीएमएआई, सीआईटीआई, एसआईएम, एसजीसीसीआई, टीईए, जीईएमए, वाईईएसएस, आईटीएमएफ, आईटीएमई, एटीएमए, एनआईएफटी सहित विभिन्न भारतीय और वैश्विक उद्योग निकायों और संघों ने इस आयोजन का भरपूर समर्थन किया।

उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और कर्नाटक सहित अग्रणी वस्‍त्र प्रदेश समर्पित मंडपों और सरकारी प्रतिनिधित्व के साथ उत्साही भागीदार राज्य थे।

केंद्रीय वस्‍त्र, उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने सीईओ गोलमेज बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें वस्‍त्र क्षेत्र की विकास संभावनाओं पर विचार-विमर्श किया गया। वस्‍त्र और रेल राज्य मंत्री श्रीमती दर्शना वी जरदोश भी विभिन्न कार्यक्रमों के दौरान मौजूद रहीं। इस कार्यक्रम के अन्य मुख्य आकर्षणों में एक फार्म टू फाइबर फुल वैल्यू चेन एक्सपो शामिल था और इसमें भारत के फैशन खुदरा बाजार के अवसरों पर ध्यान केंद्रित करने वाला एक रिटेल हाई स्ट्रीट, स्थिरता और रीसाइक्लिंग पर समर्पित मंडप शामिल थे जिसमें व्यक्तिगत उद्योग के साथ-साथ पानीपत, तिरुपुर और सूरत जैसे वस्‍त्र समूह केन्‍द्रों द्वारा किए गए वास्तविक काम को प्रदर्शित किया गया था। इसमें भारत के हस्तशिल्प और हथकरघा के पारंपरिक क्षेत्र को प्रदर्शित करने वाला एक इंडी-हाट भी था। इस कार्यक्रम में चार दिन के दौरान भारतीय वस्‍त्र विरासत से लेकर स्थिरता और वैश्विक डिजाइन, दक्ष कारीगरों द्वारा कला प्रदर्शन, इंटरैक्टिव फैब्रिक परीक्षण क्षेत्र एवं उत्पाद प्रदर्शन, वैश्विक फैशन रुझानों और विशेष भारतीय ट्रेंड पुस्तकों के प्रदर्शन जैसे विविध विषयों पर 10 से अधिक फैशन प्रस्तुतियां आकर्षण के मुख्‍य केन्‍द्र रहे।

70 सत्रों और 112 अंतर्राष्ट्रीय वक्ताओं के साथ वैश्विक स्तर के इस सम्मेलन में टेक्सटाइल मेगा ट्रेंड्स, स्थिरता, सुदृढ़ वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला और विनिर्माण 4.0 जैसे आज के प्रमुख वस्‍त्र मुद्दों पर विशेष चर्चा हुई। इस कार्यक्रम में हरित वित्त पोषण, सुदृढ़ आपूर्ति श्रृंखला, वस्‍त्रों पर जलविहीन रंग चढ़ाई और नवाचार जैसे अन्य विषयों में वैश्विक मूल्य श्रृंखला के महत्वपूर्ण मुद्दे शामिल थे। कुल मिलाकर, 70 से अधिक ज्ञान सत्र आयोजित किए गए। इनमें ईएसजी, स्थिरता, सर्कुलरिटी एवं रीसाइक्लिंग और हरित वित्‍त पोषण, देश और राज्य सत्रों पर 14 मार्क सत्र, ईएसजी, कौशल, वित्त, स्मार्ट फैक्ट्रीज़, जियोटेक आदि में नए अनुप्रयोग जैसे विभिन्न विषयों पर 25 से अधिक क्षमता निर्माण मास्टरक्लास शामिल थे। इस कार्यक्रम में सेंट्रल सिल्क बोर्ड ने अपनी प्लेटिनम जयंती के अवसर पर एक विशेष अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन किया।

इस कार्यक्रम में प्रमुख वैश्विक ब्रांडों और संभावित निवेशकों के साथ 50 से अधिक व्यावसायिक बैठकें हुईं, जिनमें नवाचार और स्थिरता पर ध्यान देने के साथ विनिर्माण, अनुसंधान एवं विकास में निवेश के क्षेत्रों को शामिल किया गया।

विदेशी गणमान्य व्यक्तियों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों सहित कई गणमान्य व्यक्तियों ने भारत टेक्स का दौरा किया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने समापन दिवस पर इस कार्यक्रम में भाग लिया और थीम मंडप तथा यूपी राज्य मंडप का दौरा किया।

10000 से अधिक कारीगरों, बुनकरों, डिजाइन और फैशन के छात्रों, कारखाना श्रमिकों, गैर सरकारी संगठनों और निर्माता कंपनियों ने विशेष आमंत्रितों के रूप में भारत टेक्स 2024 का दौरा किया। यशोभूमि की प्रदर्शनी विविध और जटिल कलात्मकता को दर्शाती है। यह आम जनता के लिए खुला था और इसमें उनकी सकारात्मक भागीदारी रही।

भारत टेक्स विभिन्न पहलों और इंडियाटेक्स, टेक्सटाइल ग्रैंड इनोवेशन चैलेंज का शुभारम्भ और अनुसंधान, नवाचार, उद्यमिता, नए उत्पाद विकास, कौशल और स्थिरता में सहयोग पर ध्यान केंद्रित करने वाले अंतरराष्ट्रीय संस्थानों के 63 एमओयू की घोषणा जैसी परियोजनाओं के लिए लॉन्च पैड के रूप में उभरा है। इस कार्यक्रम में भारत में सतत वस्त्र समूह केंद्र के लिए यूएनईपी रिपोर्ट, विभिन्न तकनीकी विषयों पर 8 किताबें और रेशम क्षेत्र में महिला सशक्तिकरण पर एक वृत्तचित्र भी जारी किया गया। भारत टेक्स के दौरान “तकनीकी वस्त्रों में नवाचार को बढ़ावा देना” विषय पर आयोजित हैकथॉन के विजेताओं की घोषणा की गई और उन्हें पुरस्कृत किया गया।

पारदर्शी मूल्य श्रृंखला, विश्व स्तर पर स्वीकार्य गुणवत्ता मानकों और कार्बन उत्सर्जन को कम करने और पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने के उद्देश्य से पानी रहित रंगाई, पुनर्योजी खेती, जैविक और पुनर्नवीनीकरण कच्चे माल जैसे अन्य समाधानों के साथ कपास में एक नया मानक कस्तूरी कपास सहित पर्यावरण-अनुकूल और विश्व स्तर पर स्वीकार्य टिकाऊ प्रथाओं की ओर बढ़ने के लिए प्रक्रिया, प्रणालियों और उत्पादन विधियों में नवीनतम नवाचार जैसे स्थायी पहल का प्रदर्शन भी इस आयोजन का हिस्सा थे।

इस कार्यक्रम के दौरान कई समझौता ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। इनमें से कुछ निम्न हैं:

शैक्षणिक सहयोग, स्टार्ट-अप का विकास, अनुसंधान, उत्पाद विकास सहित अन्य क्षेत्रों पर निफ्ट द्वारा 6 अंतर्राष्ट्रीय और 13 घरेलू समझौता ज्ञापन
केंद्रीय रेशम बोर्ड द्वारा अनुसंधान, सहयोग और नवाचार पर विभिन्न एजेंसियों के साथ 10 समझौता ज्ञापन
जियो-टेक्सटाइल्स में अनुसंधान और नवाचार के लिए राष्ट्रीय जूट बोर्ड द्वारा 2 समझौता ज्ञापन
वस्‍त्र समिति द्वारा बाजार जुड़ाव, मानकीकरण और अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 3 समझौता ज्ञापन
केंद्रीय ऊन विकास बोर्ड द्वारा सहयोग और वैज्ञानिक अनुसंधान पर 5 समझौता ज्ञापन
प्रयोगशाला स्थापित करने और अनुसंधान के लिए भारतीय जूट निगम द्वारा 3 समझौता ज्ञापन
अनुसंधान और नवाचार के लिए आईजेआईआरए द्वारा 6 समझौता ज्ञापन
सामग्री विकास, खेल तकनीक उत्पाद विकास और क्षेत्र अनुसंधान के लिए ऊन अनुसंधान संघ द्वारा 5 समझौता ज्ञापन
पीएम मित्र पार्क में उद्यमियों के लिए अनुसंधान और नवाचार के लिए एमएएनटीआरए (मंत्र) द्वारा 3 समझौता ज्ञापन
अनुसंधान और सहयोग के लिए एटीआईआरए द्वारा 3 समझौता ज्ञापन
सहयोगी अनुसंधान और नवाचार के लिए एसआईटीआरए द्वारा 2 समझौता ज्ञापन
मछली पकड़ने के उद्योग के लिए तकनीकी वस्‍त्र उत्पाद विकसित करने के लिए एसएएसएमआईआरए द्वारा 1 समझौता ज्ञापन
अनुसंधान और विकास के लिए बीटीआरए द्वारा 1 समझौता ज्ञापन
निफ्ट द्वारा विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय फैशन स्कूल और भारतीय शैक्षिक/अनुसंधान संस्थानों के साथ 22 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए।
इसके अलावा, भारत टेक्स 2024 के दौरान कई किताबें भी लॉन्च की गईं। डॉक्यूमेंट्री लॉन्च ‘रेशम में महिला शक्ति’ थीम पर आधारित थी। इस कार्यक्रम में इंडियाटेक्स परियोजना का शुभारम्भ किया गया। ‘इनोवेटिव बिजनेस प्रैक्टिसेज एंड इकोनॉमिक मॉडल्स इन द टेक्सटाइल वैल्यू चेन इन इंडिया’ (इंडियाटेक्स) परियोजना चार साल की यूएनईपी परियोजना है। इंडियाटेक्स का लक्ष्य भारतीय वस्‍त्र क्षेत्र को सर्कुलरिटी की ओर ले जाने में तेजी लाना है। साथ ही, टेक्सटाइल ग्रैंड इनोवेशन चैलेंज की घोषणा भी की गई। वस्‍त्र मंत्रालय भारत के वस्‍त्र और परिधान उद्योग में दोहराए जाने योग्य और स्केलेबल होने की उच्च क्षमता के साथ सिद्ध अवधारणा के आधार पर नए और अभिनव भावी सर्कुलर समाधानों की पहचान करने हेतु अप्रयुक्त नवाचार अवसरों का लाभ उठाने के लिए स्टार्टअप इंडिया, डीपीआईआईटी के साथ एक नवाचार चुनौती शुरू कर रहा है।


Share to ....: 239    


Most viewed


Short Message Board

Weather Forecast India

Visiter's Status

Visiter No. 31673916

Saying...........
Men, their rights, and nothing more; women, their rights, and nothing less.





Cotton Group